पाकस्तानी बॉयफ्रेंड से मिलने गई युवती करतारपुर में पकड़ी गई

हरियाणा के कैथल जिले में एक लड़की अपने बॉयफ्रेंड से मिलने के लिए करतारपुर कॉरिडोर के जरिए पाकिस्तान में घुसने की कोशिश की दौरान पकड़ी गई।


दरअसल यह लड़की जिस दिन करतारपुर गलियारे के रास्ते पाकिस्तान गई थी उस दिन उस नाम की छह महिलाएं दर्शन के लिए वहां गई थीं, लेकिन सभी उसी दिन शाम को वापस भारत लौट आईं थी। बता दें ‎कि चौकस पाकिस्तानी रेंजर्स ने लगभग 20 साल की इस सिख लड़की को करतारपुर में पकड़ कर भारत को सौंप दिया। इसके बाद में जांच में पता चला है कि ये लड़की अपने बॉयफ्रेंड और उसके तीन दोस्तों की मदद से नकली आईडी पर कॉरिडोर से बाहर निकलने लगे, तो वहां मौजूद पाकिस्तानी रेंजर्स ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।


बाद में पूछताछ के बाद लड़की को वापस भेज दिया और अन्य चार लोगों को हिरासत में ले लिया। बता दें ‎कि यह घटना नवंबर के आखिरी हफ्ते की है, लेकिन इसका खुलासा मंगलवार को हुआ। बताया गया ‎कि ये सिख युवती हरियाणा के कैथल जिले की रहने वाली है।


वो अपने पाकिस्तानी फेसबुक फ्रेंड से मिलने सिख श्रद्धालु के रूप में करतारपुर गलियारे के रास्ते पाकिस्तान में दाखिल हुई थी। जब वो करतारपुर गुरुद्वारे पहुंची, तो वहां फैसलाबाद का वो युवक अपने एक दोस्त और एक पाकिस्तानी लड़की के साथ मौजूद था। ये चारों उससे गुरुद्वारे की पहली मंजिल पर मिले और बातचीत के बाद सिख लड़की ने करतारपुर कॉरिडोर से वापस भारत जाने के बजाय पाकिस्तान में बिना वीजा घुसने की योजना बनाई।


इसके तहत पाकिस्तानी लड़की ने अपना विजिटर कार्ड कैथल की रहने वाली लड़की को दे दिया, जिसके बाद उसने अपना यात्रा कार्ड कूड़ेदान में डाल दिया, ताकि किसी को पता न चले कि वो भारत से आई श्रद्धालु है। इससे पहले कि वो सभी करतारपुर गुरुद्वारे के इलाके से निकलकर पाकिस्तान के अंदर प्रवेश करते, पाकिस्तानी अधिकारियों को उन पर संदेह हुआ और उन्होंने सबको रोक लिया और पूछताछ की जिससे इस पूरे मामले का खुलासा हुआ।


" alt="" aria-hidden="true" />


Popular posts
<no title>बीच-बचाव करने लगे।झगड़े में बहादुर अली,उसकी पत्नी जो वर्तमान प्रधान है और उसका एक लड़का घायल हो गये।जिनका मेडिकल उपचार कराया गया व झगड़े करने वाले चार लोगों की गिरफ्तारी हुई है सभी के विरुद्ध लॉक डाउन के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया गया है।अभियुक्तों की पहचान फिरोज अली पुत्र आरिफ अली,शेर अली पुत्र आरिफ अली,अमन अली पुत्र फिरोज अली और आतिफ अली पुत्र फिरोज अली निवासी गढ़ ग्राम छोलस थाना जारचा के रुप में हुयी।जिनके खिलाफ पुलिस ने धारा 188 /270/ 271 IPC के तहत मुकदमा दर्ज किया है।
23 मार्च को कई राज्यों और शहरों में लॉकडाउन घोषित किया गया था। बावजूद इसके अधिकतर जगहों पर लोग बेपरवाह दिखे। वाहनों की आवाजाही सामान्य दिखी और लोग बेरोकटोक आते-जाते रहे। लॉकडाउन का कहीं कोई असर नहीं दिखा। इसे देखते हुए पीएम मोदी को भी अपील करनी पड़ी की कई लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं और राज्य सरकारों को कानून का सख्ती से पालन करवाना चाहिए।
लॉक डाउन का उल्लंघन करने वाले चार अभियुक्तों को थाना जारचा पुलिस ने किया गिरफ्तार
अपराध पर निरंतर अंकुश लगाने वाली पुलिस को उस वक्त एक नई सफलता मिली जब जारचा पुलिस ने लॉक डाउन का उल्लंघन करने वाले चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया।आपको बता दे कि पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के निर्देश पर लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों लोगों के खिलाफ सख्त कारवाई हो रही है।इसी क्रम में थाना जारचा पुलिस ने दिनांक 10 अप्रैल 2020 को ग्राम छोलस प्रधान पति बहादुर अली द्वारा पुलिस को सूचना दी कि गांव में कुछ बच्चे क्रिकेट खेल रहे है।पुलिस मौके पर पहुंची तो क्रिकेट खेल रहे बच्चे पुलिस को देख कर भाग गए।बहादुर अली के दो भाई के लड़के भी क्रिकेट खेल रहे थे।पुलिस से शिकायत करने से नाराज प्रधान पति बहादुर अली के दोनों भाई उससे झगड़ा करने लगे।झगड़ा करते हुए ये लोग घर के बाहर आ गए।उनको झगड़ा करते देख गांव के 20-25 लोग इक्कठे हो कर तमाशा देखने लगे।उसके बाद झगड़े को शांत करने के लिए
सुरक्षित रहने हेतु लॉयन्स क्लब प्रतापगढ़ अवध ने मीडियाकर्मियों को बांटा मास्क-